Sukanya Samriddhi Yojana 2023: पीएम सुकन्या समृद्धि योजना आवेदन फॉर्म, ब्याज दर

Sukanya Samriddhi Yojana – सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एक विशेष नारी समृद्धि योजना है, जो 22 जनवरी 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉन्च की गई थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों की आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है, और उन्हें बेहतर भविष्य की दिशा में बढ़ने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत, एक बच्ची के जन्म के समय से ही 10 वर्ष से कम उम्र की आयु तक एक स्थायी खाता खोला जाता है, जिसमें उसका परिवार नियमित रूप से निर्धारित दर में राशि जमा करता है। यह जमा राशि न्यूनतम 250 रूपये से शुरू होकर अधिकतम 1.5 लाख रूपये तक होती है । यदि आप भी अपनी बच्चियों के भविष्य के लिए पूँजी एकत्रित करना चाहते है, तो आप भी अपनी बच्ची का खाता ज़रूर खुलवाएं और Sukanya Samriddhi Yojana का लाभ उठाये ।

Sukanya Samriddhi Yojana

Sukanya Samriddhi Yojana 2023

केंद्र सरकार द्वारा बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाने के उद्देश्य से सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारभ किया गया है । इसकी शुरुआत ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत की गयी है । इस योजना के अंतर्गत 10 वर्ष से कम उम्र की बालिका के नाम पर बालिका के माता – पिता या अभिभावाक द्वारा डाकखाने और निर्धारित सरकारी बैंकों में बालिका के नाम से खाता खुलवाया जा सकता है । इस योजना के तहत एक परिवार में दो लडकियों का खाता खुलवाया जा सकता है । खाते में न्यूनतम 250 रूपये से लेकर 1 लाख 50 हजार रूपये तक नगद, चेक, ड्राफ्ट या नेट बैंकिंग किसी भी माध्यम से पैसा जमा कर सकते है । पैसा जमा करने पर इनकम टैक्स कानून के सेक्शन 80 C  के तहत टैक्स कमीशन भी प्राप्त होता है । सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत बेटी के अभिभावक को केवल 15 साल तक बेटी के खाते में पैसा जमा करना होता है । इसके अलवा 6 साल तक कोई भी पैसा नही जमा करना होगा । परन्तु ब्याज दर जुडती रहेगी । बालिका का खाता खोलने के समय से 21 वर्ष पूरे होने पर ब्याज सहित पूरा पैसा उस बालिका को प्राप्त हो जाता है जिसके नाम पर खाता खोला जाता है । आपको बता दे की सरकार द्वारा Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत 8% फीसदी ब्याज दिया जा रहा है 

सुकन्या समृद्धि योजना का संक्षिप्त विवरण

योजना का नामSukanya Samriddhi Yojana
शुरू की गईकेंद्र सरकार द्वारा
वर्ष2023
कब शुरू हुई22 जनवरी 2015
उद्देश्यआर्थिक स्थिति को मजबूत करना, बेहतर भविष्य की दिशा में बढ़ाना
लाभार्थीदेश की 0 से 10 वर्ष तक की बेटियाँ
जमा राशि250 रूपये से 1 लाख 50 हज़ार रूपये तक
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन
योजना का प्रकारकेंद्र सरकारी योजना

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • इस योजना के तहत लाभार्थी बच्ची की उम्र 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • बच्ची के लिए खाता खोलने की समय – सीमा उसके जन्म के समय से लेकर 10 वर्ष तक है।
  • इस योजना के तहत, लाभार्थी के अभिवाका या माता – पिता को प्रति वर्ष मिनिमम रकम ( 250 रूपये से 1 लाख 50 हज़ार ) जमा करनी होती है ।
  • इस योजना के अन्तर्गर जमा राशि का आधा स्तर बच्ची की उम्र में 18 वर्ष होने पर मिलता है।
  • योजना का समापन बच्ची की उम्र 21 वर्ष पूरी होने पर होता है, और उसके बाद उसे योजना की जमा की गई राशि मिलती है।

Sukanya Samriddhi Yojana का उद्देश्य

सुकन्या समृद्धि योजना का मुख्य उद्देश्य बच्चियों को एक सुरक्षित और समृद्धिशील भविष्य की दिशा में मदद करना है। इस योजना का आयोजन भारत सरकार ने किया है ताकि लोग अपनी बेटियों की शिक्षा, विवाह, और उनके भविष्य के लिए आर्थिक सहायता के लिए पूंजी निवेश कर सकें । यह योजना बच्चियों के लिए एक सेविंग्स अकाउंट में नियमित रूप से धन जमा करने के लिए प्रेरित करती है । इस योजना के तहत जमा की गई राशि का उपयोग बेटियों की उच्च शिक्षा, विवाह के लिए किया जा सकता है । जब बेटी 18 वर्ष की होती है, तो उसे योजना की जमा की गई राशि मिलती है जिसे वह अपने विवाह में या अपनी आर्थिक आवश्यकताओं के लिए इस्तेमाल कर सकती है। Sukanya Samriddhi Yojana के तहत बेटियों को आर्थिक स्वतंत्रता और समर्थन प्रदान करने से उनकी सामाजिक  और आर्थिक स्थिति में सुधार होगा ।

सुकन्या समृद्धि योजना में किये गये बदलाव

Sukanya Samriddhi Yojana में सरकार द्वारा कई प्रकार के बदलाव किये गये है जो इस प्रकार है ।

  • Sukanya Samridhi Yojana के तहत, यदि कोई व्यक्ति सुकन्या समृद्धि खाते में एक वर्ष में न्यूनतम 250 रुपये जमा नहीं करता है, तो इसे डिफ़ॉल्ट खाता माना जाता है । लेकिन अब इस योजना के तहत तय डिफ़ॉल्ट खाते में जमा राशि पर ब्याज दर दी जाएगी। यानी आपको डिफॉल्टर घोषित नहीं किया जायेगा ।
  • सुकन्या समृद्धि योजना में केवल दो बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है । जबकि परिवार की तीसरी बेटी का खाता खोलने का प्रावधान भी इस योजना के अधीन था लेकिन उसका इनकम टैक्स सेक्शन 80c में लाभ नहीं दिया जाता था। परन्तु बदलाव के अनुसार तीसरी बेटी को भी सेक्शन 80c में टैक्स लाभ प्रदान किया जायेगा ।
  • पहले, सुकन्या समृद्धि खाता समय से पहले तभी बंद किया जा सकता था जब किसी लड़की की समय से पहले मृत्यु हो जाती है, या यदि बेटी की विदेश में शादी हो जाती है (एक एनआरआई के रूप में)। लेकिन अब नियम बदल दिया गया है।और अन्य कारणों से खाता बंद किया जा सकता है, जैसे कि अगर बेटी को कोई खतरनाक बीमारी हो जाती है अन्य कारणों से सुकन्या समृद्धि खाते को बंद किया जा सकता है। 
  • Sukanya Samridhi Yojana खाते को संचालित करने से पहले एक लड़की की उम्र 10 वर्ष होनी चाहिए थी , लेकिन अब इस बारे में नियम बदल गया है, अब कोई भी लड़की 18 साल की होने पर अपना खाता संचालित कर सकती है

Mission Indradhanush

Sukanya Samriddhi के तहत खाता खोलने के लिए अधिकृत बैंक

  • भारतीय स्‍टेट बैंक
  •  यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • सिंडिकेट बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • इंडियन ओवसीज बैंक
  • इंडियन बैंक
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • केनरा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • एक्‍सिस बैंक 
  • डाकघर

सुकन्या समृद्धि योजना की विशेषताएं

  • सुकन्या समृद्धि खाते को चालु रखने की समय सीमा खोले जाने की तारीख से लेकर 21 वर्ष तक की है ।
  • समय पूरा होने खाते की जमा पूँजी उस लड़की को दे दी जाएगी जिसके नाम पर खाता है।
  • यदि परिपक्‍वता के बाद खाता बंद नहीं किया जाता है तो बैलेंस रकम पर ब्‍याज मिलता रहेगा। जिसके बारे में समय-समय पर सूचना प्रदान की जाती रहेगी ।
  • यदि लड़की का विवाह 21 वर्ष पुरे होने के पहले हो जाता है तो खाता अपने-आप बंद हो जाएगा ।
  • खाता खोलने की तारीख से 15 वर्ष तक रकम जमा की जाएगी। इसके बाद जमाशुदा रकम पर ब्‍याज मिलता रहेगा।
  • न्यूनतम जमा राशि को एक हजार रुपये से घटाकर 250 रूपये कर दिया गया है ,इसको माता-पिता या अभिभावक जमा नहीं करते हैं तो खाता सक्रिय नहीं माना जाएगा।
  • लड़की की आयु 18 वर्ष पूरी होने के बाद 21 वर्ष से पहले  खाताधारी लड़की रकम निकाल सकती है ।  इस स्थिति में वह कुल जमा राशि का 50 प्रतिशत ही निकाल पाएगी।
  • यह भी उल्‍लेखनीय है कि रकम निकालने के समय खाते में कम से कम 14 वर्ष या उससे अधिक की जमा मौजूद हो।
  • माता-पिता या अभिभावक लड़की के नाम एक ही खाता खोल सकते हैं और केवल दो लड़कियों के नाम से हीं अलग अलग खाते खोले जा सकते हैं। 
  • यदि जमाकर्ता के लिए खाते में रकम जमा करना संभव नहीं है और रकम जमा करने में मुश्किल हो रही है तो खाता बंद किया जा सकता है। खाता बंद करने की और कोई तीसरी वजह नहीं मानी जाएगा ।

Sukanya Samridhi Yojana खाते में जमा राशि के लाभ

  • सुकन्‍या समृद्धि खाता कार्यक्रम का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें कर छूट प्रदान की जाती है।
  • वित्तीय रश 2023 – 24 के पहला तिमाही के मुताबिक इस योजना के अंतर्गत 8% की दर से ब्याज का लाभ मिलेगा।
  • जमा की जाने वाली रकम और परिपक्‍व रकम को आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत कर छूट प्राप्‍त है।
  • Sukanya Samridhi खाते में हर वर्ष जमा की जाने वाली रकम की न्‍यूनतम सीमा 250 रुपये और अधिकतम सीमा 1।5 लाख रुपये हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना में जमा की गई राशि की ब्याज दरें दिनांक के हिसाब से बढ़ाती हैं, जिससे राशि में वृद्धि होती है।
  • योजना के अंतर्गत जमा की गई राशि का उपयोग बेटियों की शिक्षा के लिए किया जा सकता है।
  • सुकन्‍या समृद्धि खाते का स्नाचल करने वाली अभिभावक या माता – पिता खाते एक देश के दुसरे हिस्से में ट्रान्सफर कर सकते है ।
  • सुकन्या समृद्धि योजना सरकार द्वारा संचालित योजना है इसलिए इस योजना के अंतर्गत गारंटी रिटर्न का लाभ प्रदान किया जाता है। 
  • खाता को खोलने का मुख्य उद्देश्य बच्ची की शिक्षा, विवाह और उसके भविष्य के लिए आर्थिक सुरक्षा प्रदान करना है।

सुकन्या समृद्धि योजना खाते के नुकसान

  • बहुत लंबे समय तक आपका पैसा फंसा रहता है ।
  • इस खाते हर साल जमा की जाने वाली राशि की न्यूनतम सीमा होती है ।
  • कुछ अन्य निवेश विकल्पों में इससे ज्यादा रिटर्न मिलता है।
  • हर तीन महीने में ब्याज दर बदलने की संभावना रहती है।
  • दस साल से बड़ी उम्र की लड़की के लिए खाता नहीं खुलवाया जा सकता है ।

सुकन्या समृद्धि योजना की पात्रता

  • सुकन्या सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी का निवास स्थान भारत में होना चाहिए ।
  • इस योजना के तहत केवल बच्ची के नाम से उसके माता-पिता या कानूनी अभिभावकों द्वारा खाता खोला जा सकता है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के लिए बच्ची की उम्र 10 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • किसी भी बालिका का एक से अधिक खाता नही खोला जा सकता है ।
  • एक परिवार में केवल दो बेटियों के नाम पर खाता खोला जा सकता है ।
  • खाता की सीमा बच्ची की उम्र 21 वर्ष तक है। इसका अर्थ है कि जब बच्ची 21 वर्ष की हो जाती है, तो उसका खाता समाप्त हो जाता है और उसे योजना की जमा की गई राशि मिलती है।

Free Dish TV Yojana 

Sukanya Samridhi Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • माता-पिता का पहचान पत्र / आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बेटी का पहचान पत्र / आधार कार्ड
  • जन्म प्रमाणपत्र
  • पते का प्रमाण
  • पासपोर्ट तस्वीर
  • मोबाइल नंबर

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए खाता कैसे खुलवाएं

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए सबसे पहले आपको अपने बिकट पोस्ट ऑफिस या बैंक की शाखा में जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने हेतु फॉर्म प्राप्त करना होगा ।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को सही – सही दर्ज करना होगा ।
  • सभी जानकरी दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजो को फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा ।
  • अब आपको यह आवेदन फॉर्म को फॉर्म पोस्ट ऑफिस में जमा करना होगा ।
  • और आपको फॉर्म के साथ 250 रूपये प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा ।
  • इसके बाद कर्मचारी द्वारा आपको एक रसीद दी जाएगी । जिसे आपको भविष्य के लिए सुरक्षित रखना होगा ।
  • इस प्रकार आप आसानी से सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवा सकते है ।

IPPB App और बैंक पोर्टल के माध्यम से सुकन्या समृद्धि में ऑनलाइन लेन-देन

  • IPPB ऐप और बैंक पोर्टल के जरिए सुकन्या समृद्धि योजना में ऑनलाइन लेन-देन किया जा सकता है।
  • आपको IPPB ऐप और बैंक पोर्टल डाउनलोड करना होगा ।
  • अब आपको IPPB ऐप और बैंक पोर्टल पर लॉग-इन करना होगा  ।
  • इसके बाद आपको सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट को सलेक्ट करना होगा ।
  • अब आपको SSY अकाउंट नंबर और DOP कस्टमर आईडी दर्ज करनी होगी ।
  • इस्सके बाद अपनी किस्त की अवधि और अमाउंट को सलेक्ट करना होगा ।
  • पेमेंट सक्सेफुल होने के बाद, IPPB / बैंक द्वारा नोटिफिकेशन के जरिए जानकारी भेजी जाती है।

FAQ’s

Ques – क्या सुकन्या समृद्धि योजना केवल लड़कियों के लिए है?

Ans – हाँ, सुकन्या समृद्धि योजना केवल लड़कियों के लिए है। इस योजना का उद्देश्य लड़कियों को उच्च शिक्षा, विवाह, और उनके भविष्य के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

Ques – क्या एक परिवार में एक से अधिक सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा सकता है?

Ans – हाँ, एक परिवार में दो लडकियों का सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा सकता है। लेकिन एक परिवार की प्रत्येक लड़की के लिए केवल एक खाता खोला जा सकता है।

Ques – सुकन्या समृद्धि योजना खाते की राशि पर कितना ब्याज मिलता है?

Ans – सुकन्या समृद्धि योजना में जमा की गई राशि पर इस समय 8% की दर से ब्याज दिया जा रहा है। ब्याज दरें समय-समय पर सरकार द्वारा बदलती रहती है।

Ques – क्या सुकन्या समृद्धि खाता पूरे भारत में खोला जा सकता है?

Ans – हाँ, सुकन्या समृद्धि खाता पूरे भारत में खोला जा सकता है। यह खाता सरकारी बैंको और डाकघरों में खोला जा सकता है।

Leave a Comment