मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना – Uttar Pradesh Baal Seva Yojana, रजिस्ट्रेशन

Mukhyamantri Baal Seva Yojana – जैसा की आप सभी जानते है की देश में कुछ समय पहले कोरोना वायरस का बहुत बड़ा कहर था । कोरोना वायरस के दौरान जाने कितने लोग म्रत्यु का शिकार हो गये है । कुछ घरो में तो बच्चो के माता – पिता दोनों की म्रत्यु हो गई है । माता – पिता की म्रत्यु के बाद छोटे – छोटे बच्चे अपना जीवन बड़ी कठिनाई से व्यतीत कर रहे है । ऐसे बच्चे जिनके माता – पिता दोनों की या माता – पिता में से किसी एक की म्रत्यु हो गई है । ऐसे बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत की गई है ।

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इस योजना की पूरी जानकारी जैसे – उद्देश्य , लाभ , आवेदन प्रक्रिया , योजना के तहत प्रदान की जाने वाली राशि आदि सभी जानकारी प्रदान कर रहे है । Mukhyamantri Baal Seva Yojana  की सभी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को विस्तारपूर्वक पूरा पढ़िए ।

Mukhyamantri Baal Seva Yojana

Mukhyamantri Baal Seva Yojana  2023

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी द्वारा 30 मई 2021 को अनाथ बच्चो को सहारा देने के लिए Mukhyamantri Baal Seva Yojana  का शुभ आरम्भ किया गया है । ऐसे बच्चे जिनके माता – पिता दोनों की या दोनों में से किसी एक की म्रत्यु 1 मार्च 2020 के बाद हुई है और बच्चो की आयु 18 वर्ष से कम है , ऐसे बच्चो को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत प्रतिमाह 4,000 रूपये देकर लाभान्वित किया जायेगा । यह योजना ना केवल आर्थिक सहायता प्रदान करेगी बल्कि बच्चों की स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, सुरक्षा, और विकास किया जायेगा। उत्तर प्रदेश में लगभग 197 ऐसे बच्चों की पहचान की गई है । जो बिलकुल अनाथ हो गये है और इसके अलावा 1799 ऐसे बच्चों की पहचान की गई है जिनके माता-पिता में से किसी एक की म्रत्यु हो गई है ।

पहले यह योजना सिर्फ कोरोना में अपने माता-पिता को खोने वाले बच्चो के लिए शुरु की गई थी। लेकिन मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में पिछले साल बदलाव कर उन बच्चो को भी लाभ दिया जायेगा जिनके माता या पिता में से किसी एक की या दोनों की म्रत्यु हो चुकी है । यदि बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है और उस बच्चे का कोई अभिभावक नही है तो ऐसे बच्चो को राजकीय बाल गृह में आवास की सुविधा भी उपलब्ध करायी जाएगी । इसके अलावा लड़कियों के विवाह के लिए भी आर्थिक सहायता के रूप में 1,01,000 रूपये प्रदान की जाएगी । बाल सेवा योजना बच्चों के शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, सुरक्षा, और उनके सामाजिक और मानसिक विकास के लिए उपलब्ध कार्यक्रमों को समर्थन प्रदान करती हैं।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का संक्षिप्त विवरण

योजना का नामMukhyamantri Baal Seva Yojana 
शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
वर्ष2023
कब शुरू हुई30 मई 2021 को
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के अनाथ बच्चे
उद्देश्यकोरोना वायरस के कारण अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आर्थिक सहायता राशि4,000 रूपये
योजना का प्रकारराज्य सरकारी योजना
राज्यउत्तर प्रदेश
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन

Mukhyamantri Baal Seva Yojana  का उद्देश्य

उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना का मुख्य उद्देश्य COVID – 19 संक्रमण के दौरान हुए अनाथ बच्चो को धनराशी देकर आर्थिक सहायता प्रदान करना है । इस योजना के माध्यम से माता – पिता की म्रत्यु के बाद बच्चो को प्रतिमाह 4,000 रूपये आर्थिक सहायता प्रदान करना है । जिससे बच्चो को दूसरो पर निर्भर ना रहना पड़े । इस योजना के तहत कोरोना वायरस के कारण हुए अनाथ बच्चो की पूरी जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उठाई जाएगी । यह योजना बच्चों के भलाई, विकास, और सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई है । इसके अलावा बाल सेवा योजना बच्चों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, सुरक्षा, और उनके भविष्य के लिए जरूरी सेवाएं प्रदान करने का उद्देश्य रखती हैं। इसका लक्ष्य बच्चों के भलाई, विकास, और सुरक्षा को प्राथमिकता देना, बच्चों के जीवन में सुधार करना और उनके भविष्य को बेहतर बनाना है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के लाभ और विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू 30 मई 2021 को शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से अनाथ बच्चो की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश सरकार उठाएगी।
  • कोरोना वायरस के समय जिनकी म्रत्यु हो गई है उनके बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यदि माता – पिता दोनों की म्रत्यु कोरोना वायरस के कारण हुई है तो मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा
  • इसके अलावा बच्चो के माता – पिता दोनों में से किसी एक की म्रत्यु हो गई है तो भी योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत बच्चे को 4,000  रूपये आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।
  • इस योजना के तहत ना केवल आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी बल्कि उनके विवाह तक का पूरा खर्च सरकार द्वारा वहन किया जायेगा।
  • लडकियों के विवाह के लिए 1,01,000 रूपये धनराशि देकर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यदि बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम है और उसका कोई अभिभावक नहीं है,
  • तो इस स्थिति में बच्चे को राजकीय बाल गृह के माध्यम से आवासीय सुविधा भी प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के तहत सभी लाभार्थी बच्चों का आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा।
  • सभी अवयस्क लड़कियों को भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, प्रदेश सरकार द्वारा संचालित राजकीय बाल गृह एवं अटल आवासीय विद्यालयों के माध्यम से शिक्षा की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • Mukhyamantri Baal Seva Yojana के तहत दी जाने वाली धनराशि को DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में हस्तांतरित किया जायेगा ।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की पात्रता एवं शर्ते

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी नवासी होना अनिवार्य है ।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष के कम होनी चाहिए ।
  • माता – पिता या संरक्षक की म्रत्यु 1 मार्च 2020 के बाद हो गई हो ।
  • माता – पिता , संरक्षक की म्रत्यु कोविड-19 से हो गई हो ।
  • माता – पिता की म्रत्यु के बाद 2 वर्ष के भीतर आवेदन करना अनिवार्य है ।
  • अपने लीगल गार्डियन को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण खोने वाले बच्चो को योजना के तहत पात्र माना जायेगा ।
  • वर्तमान में जीवित माता या पिता की आय 2,00,000 रूपये से अधिक नही होनी चाहिए ।
  • Mukhyamantri Baal Seva Yojana के अंतर्गत एक परिवार में दो बच्चो को पात्र माना जायेगा ।

Uttar Pradesh Viklang Pension Yojana

UP Mukhyamantri Baal Seva Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बच्चे का आयु प्रमाण पत्र
  • माता – पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • कोविड-19 से मृत्यु होने का प्रमाण
  •  माता-पिता या वेज संरक्षक का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • विवाह की तिथि नियत होने या विवाह संपन्न होने से संबंधित अभिलेख, विवाह का कार्ड
  • बालिका एवं उसके अभिभावक की फोटो

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं तो आपको ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी के पास जाना होगा।
  • या विकासखंड या जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में जाना होगा।
  • यदि आप शहरी क्षेत्र में रहते है तोआपको लेखपाल, तहसील या जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय में जाना होगा।
  • कार्यालय में जाकर आपको मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी – जैसे नाम , माता – पिता का नाम , जन्म थिति , मोबाइल नंबर , ईमेल आईडी आदि को सही – सही दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजो की प्रतिलिपि को फार्म के साथ लगाना होगा।
  • अब आपको यह आवेदन पत्र कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इस प्रकार आप आसानी से यूपी मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते है।

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से जुड़े प्रश्न उत्तर

प्रश्न – मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना क्या है ?

उत्तर – ऐसे बच्चे जिनके माता–पिता की म्रत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हो गई है। तो ऐसे बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभ आरम्भ किया गया है।

प्रश्न – बाल सेवा योजना के तहत कितनी आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ?

उत्तर – इस योजना के तहत 4,000 रूपये आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी ।

प्रश्न – मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत आवेदन कैसे और किस माध्यम से किया जायेगा ?

उत्तर – इस योजना के अंतर्गत ग्राम विकास/पंचायत अधिकारी या विकासखंड या जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय, तहसील या जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय में जाकर ऑफलाइन माध्यम से आवेदन किया जायेगा।

Leave a Comment